Since: 23-09-2009

  Latest News :
कोलकाता के न्यू टाउन में मिला बांग्लादेश के लापता सांसद का शव.   भोजपुरी स्टार पवन सिंह भाजपा से निष्कासित.   घोर साम्प्रदायिक घोर जातिवादी और घोर परिवारवादी है विपक्षी गठबंधनः नरेन्द्र मोदी.   कांग्रेस ने सेना को कमजोर किया उपकरणों में भी घोटाले किए: राजनाथ सिंह.   ऐसी कोई ताकत नहीं, जो पीओके को भारत का हिस्सा बनने से रोक सके : अमित शाह.   आलमगीर आलम एक बार फिर ईडी के पांच दिनों की रिमांड पर.   चंद्रमा का भी होता है नामकरण, बुद्ध पूर्णिमा का चांद ‘फ्लावर मून’ कहलाएगा.   शील नागू बने मध्यप्रदेश हाई कोर्ट के नए एक्टिंग चीफ जस्टिस.   पुणे हिट एंड रन मामले में कोर्ट के फैसले पर राहुल गांधी का कटाक्ष.   इंडी गठबंधन वाले चोर-चोर मौसेरे भाई : शिवराज.   कागजों में खरीद लिया 13 ट्रक गेहूं जिला प्रबंधक निलंबित.   मप्र नर्सिंग कॉलेज घोटाला सीबीआई इंस्पेक्टर राहुल राज बर्खास्त.   सरकार पीड़ित परिवारों के साथ करेगी हरसंभव मदद : केदार कश्यप.   पटरी पर लेटे युवक की ट्रेन गुजरते ही मौत.   मारपीट के विरोध में सफाई कर्मी हड़ताल पर.   बेटे को करंट लगाने के बाद गला घोंटा.   ट्रैक्टर ने दंपति को कुचला.   आईटीबीपी जवान जवान को ड्यूटी के दौरान सर्विस राइफल से लगी गोली.  
शिक्षक दिवस पर आंदोलन रत कर्मचारी रखेंगे उपवास
raigarh, Agitating employees , Teacher

रायगढ़। सरकार की ओर से कोई समाधान नहीं निकलने के कारण किरोड़ीमल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के आंदोलनरत शिक्षक अब उपवास रखने का निर्णय लिया है।

विगत 16 महीनों से वेतन नहीं मिलने के बावजूद किरोड़ीमल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (केआईटी) में प्रवेश से लेकर कक्षाएं लगाने तक सारे काम कर रहे कर्मचारियों का धैर्य जवाब दे गया। 25 जुलाई से पांच मुख्य मांगों को लेकर सारे स्टॉफ हड़ताल पर बैठे हुए हैं। जिले के एकमात्र अर्धसरकारी इंजीनियरिंग कॉलेज का बुरा हाल है। पूरी सीटों पर एडमिशन भी नहीं हो रहे हैं क्योंकि कॉलेज में तीन सालों से अस्थिरता का माहौल है।

आंदोलनकारियों ने उच्च शिक्षा मंत्री और विधायक से भी मुलाकात की लेकिन कोई हल नहीं निकल पाया। अनिश्चितकालीन हड़ताल अब भी जारी है। अब कॉलेज के सरकारीकरण की मांग कर रहे कर्मचारियों ने अब सरकार को जगाने के लिए नए तरह से आंदोलन करने का निर्णय लिया है। 5 सितंबर को शिक्षक दिवस के मौके पर केआईटी जैसे शिक्षण संस्थान में सभी कर्मचारी उपवास पर रहेंगे। इसकी सूचना कलेक्टर और निदेशक केआईटी को दी गई है।

एक संस्थान को संवार नहीं पाया रायगढ़

केआईटी में जिले के वे छात्र-छात्राएं प्रवेश लेते हैं जो दूसरे बड़े कॉलेजों की फीस नहीं दे सकते। औद्योगिक जिले में केआईटी का ठीक से संचालित होना यहीं के युवाओं के हित में है, लेकिन वेतन और दूसरी समस्याओं के लिए सरकार की ओर टकटकी लगाए देखने को मजबूर हैं।

केआईटी को पूर्व में करोड़ों रुपये दिए गए हैं। संसाधन विकास के लिए मिली राशि का उपयोग कहां, कैसे किया गया, यह भी बड़ा सवाल है। नवीन भवन निर्माण में भी भ्रष्टाचार की शिकायत हुई थी। छात्रावास निर्माण में भी गड़बड़ी का मामला उठा था। केआईटी को नुकसान पहुंचाने में पूर्व के प्राचार्यों का भी हाथ है।

MadhyaBharat 3 September 2023

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 8641
  • Last 7 days : 45219
  • Last 30 days : 64212


x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved ©2024 MadhyaBharat News.