Since: 23-09-2009

  Latest News :
प्रधानमंत्री मोदी की भाजपा को चंदा देने की अपील.   झारखंड में विदेशी महिला के साथ गैंगरेप के मामले में तीन गिरफ्तार.   अब 6 मार्च को दिल्ली कूच करेंगे किसान.   पूर्व केन्द्रीय मंत्री ने की राजनीति से संन्यास की घोषणा.   आसनसोल से चुनाव नहीं लड़ेंगे पवन सिंह.   गौतम गंभीर के बाद अब जयंत सिन्हा ने चुनाव लड़ने से किया इनकार.   रुद्राक्ष महोत्सव में शामिल होंगे अनेक वीआईपी.   भगवान श्रीकृष्ण के जीवन से सीखें जीने की राह: मुख्यमंत्री डॉ यादव.   मप्र में बेमौसम बारिश का सिलसिला जारी.   भारत जोड़ो न्याय यात्रा बीच में ही छोड़कर पटना रवाना हुए राहुल गांधी.   हरदा पटाखा फैक्ट्री विस्फोट मामले में आठवां आरोपी गिरफ्तार.   देश में सामाजिक व आर्थिक अन्याय रोकना जरूरी: राहुल गांधी.   मुख्यमंत्री ने बच्चों को दवा पिलाकर पल्स पोलियो अभियान का किया शुभारंभ.   मुख्यमंत्री साय ने जशपुर जिले में दो थाना चौकी का शुभारंभ किया.   अभिनेत्री महिमा चौधरी ने मैराथन दौड़ को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना.   कांग्रेस और नक्सलियों के बीच सांठ-गांठ : महेश गागड़ा.   उरपालपारा के जंगल में बनाये गये नक्सली स्मारक को जवानों ने किया ध्वस्त.   महिला कांग्रेस की शहर अध्यक्ष सरला तिवारी ने किया भाजपा प्रवेश.  
जंगल में विचरण कर रहे 35 हाथी ग्रामीण के साथ नक्सली दहशत में
dhamtari, 35 elephants, forest, Naxalites

धमतरी। वनांचल में जंगल में विचरण कर रहे 35 हाथियों से अब ग्रामीण के साथ ही नक्सली भी दहशत में हैं। नक्सल संवेदनशील क्षेत्र के गांवों में सिकासेर दल के 35 हाथियों ने रातभर चिंघाड़ लगाया। जिससे ग्रामीण तो कांपे ही , लेकिन जंगलों में छिपे नक्सलियों में भी दहशत बढ़ गई है, क्योंकि हाथी सबके लिए खतरनाक है। विधानसभा चुनाव से पहले इसी क्षेत्र में नक्सली पहुंचकर बैनर-पोस्टर चस्पा कर रहे थे।

नगरी ब्लाक के हाथी निगरानी दल में शामिल अधिकारी-कर्मचारियों से मिली जानकारी के अनुसार 26 नवंबर को सिकासेर दल में शामिल 34 से 35 हाथी दक्षिण साल्हेभाट परिक्षेत्र रिसगांव और सहायक परिक्षेत्र खल्लारी के जंगल में है। यह हाथी 27 नवंबर की रात इस क्षेत्र के जंगल व आसपास के गांवों में जमकर चिंघाड़ते रहे, इससे साल्हेभाट व खल्लारी के ग्रामीण रात में डरते रहे, क्योंकि इन गांवों की आबादी जंगल क्षेत्र से लगे हुए। ऐसे में ग्रामीण रात में हाथियों के चिंघाड़ से डरते रहे, लेकिन हाथियों का झुंड जिस जंगल में घुसे है, वहां नक्सलियों की आवाजाही रहता है। विधानसभा चुनाव में मतदान से पहले खल्लारी व साल्हेभाट क्षेत्र के जंगल मार्गाें में नक्सली बैनर-पोस्टर चस्पा किया गया था। साथ ही इस क्षेत्र में समय-समय पर नक्सलियों की आवाजाही बनी रहती है। ऐसे में हाथियों के बड़ी संख्या में जंगल में प्रवेश करने से नक्सलियों में दहशत बढ़ गई होगी।

उल्लेखनीय है कि वन विभाग के अधिकारी-कर्मचािरियों ने क्षेत्र के नक्सल संवेदनशील गांव एकावारी, आमझर, मुंहकोट, चमेंदा में मुनादी कराकर ग्रामीणों को हाथियों से बचने अपील की है। रात में जंगल की ओर नहीं जाने कहा है। साथ ही हाथियों के दल दिखाई देने पर वन विभाग को जानकारी देने अपील की है।

MadhyaBharat 28 November 2023

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 8641
  • Last 7 days : 45219
  • Last 30 days : 64212


x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved ©2024 MadhyaBharat News.