Since: 23-09-2009

Latest News :
दिल्ली में हेलिकॉप्टर से पानी के छिड़काव की तैयारी.   अचार, मुरब्बा बनाने की तकनीक दुनिया को करती है उत्साहितः मोदी.   गुजरात में चुनाव दिसम्बर में होने के संकेत.   मीडिया की गति और नियति.   PM मोदी, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह की मौजूदगी में रावण दहन .   राज ठाकरे की चुनौती, पहले सुधारो मुुंबई लोकल फिर बुलेट ट्रेन की बात.   कबीर की शिक्षा समाज के लिये संजीवनी : कबीर महोत्सव में राष्ट्रपति श्री कोविंद.   चित्रकूट में एक हजार से अधिक लायसेंसी हथियार जमा.   भावांतर भुगतान योजना में एक लाख 12 हजार से अधिक किसानों द्वारा 32 लाख क्विंटल उपज का विक्रय .   उद्योग संवर्द्धन नीति-2014 में संशोधन की मंजूरी.   मुख्यमंत्री शिवराज के निवास पर दशहरा पूजा.   मानव जीवन के लिए नदी बचाना जरूरी : चौहान.   मूणत CD कांड - फॉरेंसिंक रिपोर्ट आते ही शुरू होगी CBI जांच.   मूणत की CD का सच सीबीआई को सौंपने दिल्ली पहुंची एसआईटी.   पुलिस लाइन रायगढ़ के प्रशासनिक भवन में आग.   बीमार पत्नी से झगड़ा पति, हत्या कर फांसी पर झूला.   बस्तर दशहरा के लिए माई जी को न्यौता.   बस्तर को अलग राज्य बनाने की मांग.  

शहडोल News


हिंसा के दौरान मतदान

अटेर और बांधवगढ़ विधानसभा उपचुनाव के लिए रविवार को फायरिंग और हिंसा के बीच मतदान हुआ।  बांधवगढ़ में जहां  67.16 फीसदी मतदाताओं ने मताधिकार का इस्तेमाल किया तो वहीं अटेर में 61 प्रतिशत मतदान हुआ। अटेर में दिनभर काफी तनावपूर्ण माहौल रहा। दो जगह हवाई फायरिंग हुई और कई मतदान केंद्रों के बाहर हिंसा की घटनाएं सामने आईं। अटेर में कांग्रेस ने 41 मतदान केंद्रों में पुनर्मतदान की मांग की जबकि भाजपा ने भी स्पेशल ऑब्जर्वर के खिलाफ कांग्रेस के पक्ष में एकतरफा कार्रवाई का आरोप लगाते हुए 40 मतदान केंद्रों पर पुनर्मतदान की मांग की है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार चौहान ने भी दिल्ली में इस संबंध में चुनाव आयोग को एक ज्ञापन सौंपा। अटेर उपचुनाव में भाजपा के अरविंद भदौरिया का मुकाबला कांग्रेस के हेमंत कटारे से है वहीं बांधवगढ़ में भाजपा के शिवनारायण सिंह का मुकाबला कांग्रेस की सावित्री सिंह से है। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सलीना सिंह ने बताया कि अटेर में चुनाव शांतिपूर्ण तो नहीं रहा लेकिन बूथ कैप्चरिंग की घटना नहीं हुई। दो जगह सांकरी और गोरकलान में फायरिंग की सूचनाएं मिली हैं। इसको लेकर कलेक्टर से रिपोर्ट मांगी गई है। सांकरी में कांग्रेस और भाजपा के कार्यकर्ताओं के बीच मारपीट होने की बात सामने आई है। कांग्रेस के उम्मीदवार हेमंत कटारे को 12-15 सुरक्षाकर्मी मुहैया कराए गए थे। मतदान में अशांति की संभावना को देखते हुए शनिवार देर रात दतिया और मुरैना से सुरक्षा बल की दो कंपनियां भिजवाई गई थीं। मतदान के दौरान पाली मतदान केंद्र में मुन्नीलाल शर्मा ने मत किसी को देने और किसी और को मिलने की शिकायत की लेकिन उन्होंने लिखित में इस पर आपत्ति दर्ज नहीं कराई। वहीं तकनीकी गड़बड़ी के चलते अटेर में 5 और बांधवगढ़ में 6 ईवीएम और वीवीपैट को बदला गया है। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि जितनी भी शिकायतें मिली थी, उन सभी पर तुरंत कार्रवाई की गई है। हम कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक के भरोसे नहीं बैठे थे। चार माध्यमों से सूचनाएं प्राप्त कर जरूरी कार्रवाई के लिए पुलिस बल और मजिस्ट्रेट पहुंचाए गए। कांग्रेस ने जो शिकायतें की हैं, उन सभी को जांच में लिया गया है। कलेक्टर से रिपोर्ट भी मांगी गई है। उधर, भाजपा ने भी अटेर में कांग्रेस द्वारा फर्जी मतदान कराए जाने की शिकायत की। पार्टी ने आरोप लगाया कि कुछरी में आपराधिक तत्व मतदाताओं को मतदान करने से रोक रहे हैं। भाजपा ने चुनाव आयोग के विशेष पर्यवेक्षक भंवरलाल पर आरोप लगाया कि वे कांग्रेस की शिकायत पर अधिकारियों को इध्‍र से उधर हटा रहे हैं। यदि भंवरलाल को नहीं रोका गया तो शांति सुरक्षा कभी भी भंग हो सकती है। पार्टी ने भंवरलाल को तत्काल अटेर से हटाने की मांग की। इस पर पूछे सवाल को पहले तो मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सलीना सिंह टाल गई लेकिन देर शाम कहा कि आयोग निष्पक्ष एजेंसी है और वे पूरी शिद्दत से अपना काम करता है।      

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 April 2017

bjp vin

नेपानगर से जीतीं भाजपा प्रत्याशी मंजू दादू मध्य प्रदेश के शहडोल लोकसभा और नेपानगर विधानसभा क्षेत्रों में बीजेपी का परचम लहराया , सबसे पहले परिणाम नेपानगर से आए। यहां मंजू दादू ने 40,000 से ज्यादा मतों के अंतर से कांग्रेस के अंतर सिंह बर्डे को हराकर जीत हासिल की। वहीं, शहडोल में भी भाजपा के ज्ञान सिंह ने 57 हजार से ज्यादा मतों से कांग्रेस की हिमाद्री को हराया।  जनता का शुक्रिया करने के लिए मेरे पास शब्द नहीं: मंजू अपनी जीत का श्रेय जनता को देते हुए मंजू ने कहा कि, आप सभी का शुक्रिया करने के लिए पूरे दादु परिवार के पास शब्दकोष नहीं है। आप सभी ने हमारे परिवार पर जो प्रेम और आशीर्वाद बनाए रखा है वह एक मिसाल की तरह सदा मुझे एक सुखद एहसास कराता रहेगा। यह जीत मैं आप सभी से लाडले विधायक स्व. राजेन्द्र जी दादु को समर्पित करती हूं। शहडोल लोकसभा उपचुनाव में भाजपा के ज्ञान सिंह और कांग्रेस की हिमाद्री सिंह के अलावा 15 और प्रत्याशी चुनावी मैदान में थे। वहीं, नेपानगर में भाजपा की मंजू दादू, कांग्रेस के अंतरसिंह के अलावा दो अन्य प्रत्याशी चुनावी मैदान में थे। शहडोल लोकसभा उपचुनाव भाजपा सांसद दलपत सिंह परस्ते के निधन के चलते हुआ है। वहीं, नेपानगर विधानसभा का उपचुनाव भाजपा विधायक राजेन्द्र दादू के निधन के कारण हुआ।              

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  22 November 2016

gyan singh

  शहडोल उपचुनाव में इस बार मतदान का प्रतिशत बढ़ने को दोनों राजनीतिक दल अपने-अपने फायदे के रूप में देख रहे हैं। भाजपा का मानना है कि मतदान का प्रतिशत बढ़ने से उसे फायदा होगा और उसकी जीत क आंकड़ा बढ़ेगा। वहीं कांगे्रस का मानना है कि उम्रदराज ज्ञान सिंंह के बजाए जनता ने युवा हिमाद्री को पसंद किया है। कांगे्रस का दावा है कि मतदान का प्रतिशत बढ़ने का इसका कांग्रेस को मिलना तय है। कांग्रेस का दावा है कि उसकी प्रत्याशी अप्रत्याशित जीत दर्ज करेंगी। उसका कहना है कि नोटबंदी मुद्दे का लाभ भी उसे मिलेगा। शहडोल में जहां चार प्रतिशत बढ़ा है, वहीं नेपानगर में चार फीसदी घटा है। नेपानगर में पहले हुए चुनाव में मतदान प्रतिशत 76 था जो इस बार उपचुनाव में 72 प्रतिशत तक आ गया है। दूसरी ओर शहडोल में 62 प्रतिशत मतदान पूर्व में हुए चुनाव में हुआ था जो इस बार 66 प्रतिशत तक पहुंच गया। मुद्दाविहीन थी कांग्रेस, लीड बढ़ना तय: ज्ञान सिंह भाजपा प्रत्याशी और प्रदेश के आदिमजाति कल्याण मंत्री ज्ञान सिंह का कहना है कि यह चुनाव मुख्यमंत्री शिवराज सिंह द्वारा पूरे शहडोल संभाग में कराए गए विकास कार्यो को मुद्दा बनाकर लड़ा गया है। मुख्यमंत्री की सभाओ में उमड़ी भीड़ यह बताने को पर्याप्त थी कि जनता उनके कामों से खुश है। उन्होंने दावा किया कि उपचुनाव में भी विजय भाजपा की ही होगी। चार फीसदी मतदान बढ़ने पर ज्ञान सिंह का कहना था कि लोगों ने उत्साह के साथ मतदान किया है।  हिमाद्री बेटी जैसी हिमाद्री को लेकर दिल को देखों चेहरा न देखों गाना गाने वाले ज्ञान सिंह का कहना है कि राजनीति अलग बिषय है पर हिमाद्री हमारे समाज की है और मेरे लिए बेटी जैसी है। मैंने यह गाना उसके लिए नहीं बल्कि कांग्रेस के लिए गाया था। वे कहते हैं कि कांग्रेस इस चुनाव में मुद्दाविहीन थी। यही वजह है कि उसने इस गाने को मुद्दा बनाया और नोटबंदी पर कुप्रचार कर जनता को भ्रमित करने का प्रयास किया। जनता समझ चुकी, भाजपा सिर्फ घोषणा करती रही: हिमाद्री उधर हिमाद्री सिंह ने भी दावा किया है कि इस बार कांग्रेस यहां से हर हाल में जीतेगी। उन्होंने कहा कि चुनाव तो उन्होंने कई देखे हैं, लेकिन यह चुनाव खुद लड़ा। इसका अनुभव अलग रहा है। लोगों अभूतपूर्व सहयोग मिला है। युवाओं ने एक मित्र के रुप में मुझे देखा, तो वहीं बड़ों ने छोटी बहन और बेटी के रुप में मुझे आशीर्वाद दिया। इतना आशीर्वाद बेकार नहीं जा सकता। कांग्रेस कार्यकर्ता और नेताओं ने खुले मन से पार्टी के लिए प्रचार किया। यहां का विकास हमेशा कांग्रेस ने ही करवाया है, भाजपा सिर्फ घोषणा ही करती रही। जनता यह बात समझ चुकी है। इसलिए यहां पर कांग्रेस भारी मतों से जीतने जा रही है।  वहीं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव ने कहा कि भाजपा की करनी और कथनी को शहडोल लोकसभा क्षेत्र की जनता जान गई है। दोनों में अंतर उसे पता है। भाजपा सरकार ने काम किए नहीं और चुनाव के वक्त करोड़ों की घोषणाएं कर दी। इनसे कुछ नहीं होने वाला, जनता समझ चुकी की कांग्रेस ही क्षेत्र का विकास कर सकती है। इसलिए इस बार यहां पर कांग्रेस को भारी जनसमर्थन मिला है। नोटबंदी को लेकर गरीबों को हुई परेशानी भी बड़ा मुद्दा था, कालेधन के नकेल कसने के झूठे दिखावे के नाम पर गरीब जनता को पाई-पाई के लिए मोहताज केंद्र सरकार ने कर दिया था। जनता इन सब मुद्दों को लेकर भी केंद्र सरकार ने नाराज है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 November 2016

matdan

    नेपानगर विधानसभा उपचुनाव और शहडोल लोकसभा  में मतदान को लेकर लोग उत्साहित नजर आए। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि सुबह सात बजे वोटिंग शुरू होने के दो घंटे के भीतर ही 16 फीसदी मतदाता वोट डाल चुके थे। वहीं अंबाडा के आदर्श मतदान केंद्र क्रं 198 में सुबह 11 बजे तक 45 फीसदी और भातखेड़ा में 40 फीसदी मतदान हुआ। विधानसभा क्षेत्र में 296 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। सभी केंद्रों को मिलाकर 4 बजे तक 70 फीसदी मतदान हुआ।शहडोल में वोटरों  स्वागत फूलों से हुआ। दोनों जगह ही शांतिपूर्ण और शानदार मतदान हुआ।  पांच मतदान केंद्रों से 5 से वेबकास्टिंग की जा रही है। 10 स्थानों पर आदर्श मतदान केंद्र बनाए गए हैं। भाजपा प्रत्याशी मंजू राजेंद्र दादु ने कान्हापुर में 189 नंबर केंद्र पर मतदान किया, वहीं कांग्रेस प्रत्याशी अंतरसिंह बर्डे ने ग्राम अम्बा में मतदान किया। सोनुद में केंद्र क्रमांक 191 की ईवीएम में खराबी की वजह से कुछ देर के लिए मतदान प्रभावित हुआ। विधानसभा क्षेत्र में कई मतदान केंद्रों पर सन्नाटा पसरा रहा, यहां इक्का-दुक्का मतदाता ही वोट डालने पहुंचे। भवानी नगर, उर्दू स्कूल के 4 केंद्रों पर यही हालात नजर आए।  ग्राम तुकईथाड में 50 लोगों के नाम मतदाता सूची में नहीं होने से लोगों में रोष गहराया। कांग्रेस ने मतदाताओं के नाम कटने की ऑनलाइन शिकायत चुनाव आयोग से की। जिसमें बीएलओ ज्योति महाजन के द्वारा जान बूझकर कांग्रेस समर्थित मतदाताओं के नाम काटे जाने की शिकायत की गई।मतदान केंद्र क्रमांक 58 हिंदी प्राथमिक शाला में ईवीएम मशीन खराब होने से मतदान प्रभावित हो गया, जिससे मतदाता परेशान हुए। सेक्टर अधिकारी इंजीनियर को लेकर पहुचे मौके पर पहुंचे और परेशानी दूर की गई। केंद्र सरकार के नेपा पेपर लिमिटिड से कार्य से हटाए गए करीब 200 श्रमिक, जो 51 दिन से क्रमिक भूख हड़ताल पर हैं और उनके 800 परिजनों सहित करीब 1000 लोग ने वोट डालने से इनकार कर दिया। मतदान केंद्रों पर हुआ मतदाताओं का स्वागत शहडोल लोकसभा उपचुनाव के लिए शनिवार सुबह सात बजे से मतदान शुरू हो गया। संसदीय क्षेत्र के शहडोल जिले की जयसियंहनगर व जैतपुर, उमरिया जिले की बांधवगढ़ व मानपुर, अनूपपुर जिले की पुष्पराजगढ़, अनूपपुर व कोतमा एवं कटनी जिले की बड़वारा विधानसभा क्षेत्र के 2070 मतदान केन्द्रों में 16 लाख 787 मतदाता मतदान करेंगे। 4 बजे तक शहडोल में कुल मतदान 50 फीसदी से ऊपर पहुंच गया। संसदीय क्षेत्र के कटनी में बड़वारा विधानसभा के आदर्श मतदान केंद्र में मतदाताओं का फूल माला पहनाकर स्वागत किया गया। आदर्श मतदान केंद्रों में वोटरों के लिए विशेष व्यवस्था की गई है। कांग्रेस विधायक सौरभ सिंह ने भी सुबह मतदान किया। कटनी में मतदान केंद्र क्रमांक 180, 57 में ईवीएम मशीन खराब होने के कारण बदली गईं। कटनी में कांग्रेस विधायक सौरभ सिंह से पुलिस ने कहा था कि आप चुनाव में व्यवधान उत्पन्न कर रहे हैं। इस पर विधायक ने कहा कि मैं व्यवधान उत्पन्न नहीं कर रहा हूं और अगर आप कहें तो में थाने आ जाता हूं। ऐसा कहकर विधायक सौरभ सिंह बड़वारा थाने पहुंच गए। पुलिस के अनुसार विधायक को हिरासत में नहीं लिया गया था। वे स्वयं वहां पहुंचे थे, करीब 20 मिनट रुकने के बाद वे वापस चले गए। उमरिया विधानसभा के बिजौरी गांव में 110 वर्षीय महिला रामरती ने भी मतदान किया। बड़वारा विधानसभा क्षेत्र के ग्राम देवरी हटाई में 101 वर्ष की महिला मतदान किया, महिला का नाम द्रोपति बाई है। वहीं सारंगपुर में मतदान करने पहुंची 103 वर्ष की महिला छोटी बाई मतदान करने पहुंची।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 November 2016

शहडोल लोकसभा और नेपानगर विधानसभा उप-चुनाव

शहडोल में 17 और नेपानगर में 4 उम्मीदवार के भाग्य का फैसला करेंगे मतदाता  2766 पोलिंग बूथ पर 4000 से अधिक ईव्हीएम  बैलेट यूनिट पर दिखेंगे प्रत्याशी के फोटो ,सुरक्षा के लिए तीस कम्पनी तैनात  मध्यप्रदेश के 12-शहडोल लोकसभा (अजजा) और 179-नेपानगर विधानसभा (अजजा) के उप-चुनाव के लिये शनिवार 19 नवम्बर को सबेरे 7 बजे से शाम 5 बजे तक वोट डाले जायेंगे। मतदान को लेकर सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किये गये हैं। शहडोल संसदीय क्षेत्र में 16 लाख 787 मतदाता हैं। इनमें 8 लाख 25 हजार 873 पुरुष, 7 लाख 78 हजार 489 महिला तथा 25 थर्ड जेंडर शामिल हैं। क्षेत्र के 18-19 आयु वर्ग के 41 हजार 750 युवा मतदाता भी पहली बार मतदान करेंगे। शहडोल एवं नेपानगर निर्वाचन क्षेत्र में सीएपीएफ (केन्द्रीय अर्द्ध सैनिक बल) और एसएएफ (राज्य विशेष सशस्त्र बल) की 15-15 कम्पनी तैनात की गयी हैं। दोनों क्षेत्र के वल्‍नरेबल पॉकेट में फ्लेग-मार्च किया जा रहा है। कानून-व्यवस्था बनाये रखने के लिये जिला पुलिस बल के 179 अधिकारी, 2431 आरक्षक, 1813 होमगार्ड तैनात किये गये हैं। ईव्हीएम की सुरक्षा के लिये सीएपीएफ की 2 कम्पनी तैनात की गयी हैं। प्रत्येक मतदान केन्द्र में 4 मतदानकर्मी तथा 2 पुलिस के जवान तैनात किये गये हैं। वल्नरेबल क्षेत्र में चिन्हित 86 मतदान केन्द्र में सीएपीएफ के 2-2 जवान सुरक्षा की जिम्मेदारी सम्हालेंगे। दोनों निर्वाचन क्षेत्र में 19 नवम्बर तक पुराने नोट बदलवाने वाले नागरिकों की उंगली में इनएडिबल स्याही नहीं लगायी जायेगी। मतदान दल को निर्वाचन सामग्री लेकर मतदान की पूर्व संध्या पर निर्धारित मतदान केन्द्र पर उपस्थित होने के निर्देश दिये गये हैं। मतदान टीमें रात्रि-विश्राम भी केन्द्र पर ही करेंगी। मतदान सामग्री के वितरण एवं परिवहन की व्यवस्था भी जिला मुख्यालयों पर की गयी है। शहडोल संसदीय क्षेत्र में 2070 मतदान केन्द्र में मतदान होगा। इनमें 300 शहरी तथा 1770 ग्रामीण क्षेत्र के हैं। इनमें से 385 क्रिटिकल मतदान केन्द्र हैं। मतदान के लिये 3700 ईव्हीएम (इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन) का इस्तेमाल होगा। ईव्हीएम पर प्रत्याशी के फोटो भी लगेंगे। शहडोल लोकसभा सीट के लिये 8 विधानसभा क्षेत्र में मतदान होगा, जिसमें 3 अनूपपुर, 2-2 शहडोल एवं उमरिया तथा कटनी जिले का एक विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र शामिल है। शहडोल लोकसभा उप-चुनाव के लिये 17 उम्मीदवार मैदान में हैं। इनमें 9 निर्दलीय उम्मीदवार भी हैं। नेपानगर विधानसभा उप-चुनाव के लिये 4 उम्मीदवार के भाग्य का फैसला होगा। निर्वाचन क्षेत्र में 2 लाख 30 हजार 420 मतदाता हैं। इनमें पुरुष एक लाख 18 हजार 659, महिला एक लाख 11 हजार 744 एवं 17 थर्ड जेंडर मतदाता हैं। युवा 18-19 आयु वर्ग के 3046 मतदाता हैं। क्षेत्र में 296 मतदान केन्द्र में से 29 शहरी तथा 267 ग्रामीण क्षेत्र में हैं। क्रिटिकल श्रेणी के 38 मतदान केन्द हैं। मतदान के लिये 386 ईव्हीएम उपलब्ध करवायी गयी हैं।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 November 2016

शहडोल और नेपानगर उप-चुनाव

मध्यप्रदेश में शहडोल लोकसभा और नेपानगर विधानसभा उप-चुनाव को निष्पक्ष एवं शांतिपूर्वक निर्वाचन सम्पन्न करवाने के लिये दोनों क्षेत्र में कानून-व्यवस्था की स्थिति की नियमित समीक्षा की जा रही है। विगत 17 अक्टूबर को उप-चुनाव की घोषणा के साथ अब तक 3771 लायसेंसी शस्त्र जमा करवाये जा चुके हैं तथा 5 विस्फोटक सामग्री जप्त हुई है। निर्वाचन क्षेत्रों से अब तक 54 अवैध हथियार की बरामदगी की गई है। सीआरपीसी की विभिन्न धारा में अब 8866 व्यक्ति पर प्रतिबंधात्मक कार्रवाई तथा 4700 को बाउंड ओवर किया गया। बाउंड ओवर का उल्लंघन करने पर 6 व्यक्ति के विरूद्ध कार्रवाई की गई है। इसी प्रकार 3003 गैर-जमानती वारंट में से 974 की तामीली करवाई जा चुकी है। संबंधित निर्वाचन क्षेत्रों में सुरक्षा की दृष्टि से जिला प्रशासन, पुलिस और आबकारी विभाग के 51 नाका संचालित किये जा रहे हैं।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  17 November 2016

up chunav

नोटबंदी ने शहडोल और नेपानगर उपचुनाव का रंग फीका कर दिया है। चुनावों में भाजपा और कांग्रेस फंड की परेशानी से गुजर रहे हैं। 500 और 1000 के नोट गैरकानूनी होने से राजनीतिक दल न तो कार्यकर्ताओं को छोटे खर्च के लिए पैसा दे पा रहे हैं और न ही फ्लैक्स और होडिंग्स पर राशि खर्च कर पा रहे हैं। नोटबंदी ने राजनीतिक दलों को चुनाव खर्च के हिसाब-किताब में उलझा कर रख दिया है। छोटे शहरों और कस्बों में राजनीतिक दलों से कोई बड़े नोट नहीं ले रहा है, जबकि पार्टी मुख्यालयों से जो पैसा चुनाव खर्च के लिए आया है वह पांच सौ और एक हजार की शक्ल में आया है। इस फंड से अब तक आधा से अधिक खर्च हो चुका है पर शेष बचे फंड को सौ-सौ के नोट में बदलकर खर्च करने में इन राजनीतिक दलों को पसीना आ रहा है। चुनाव प्रबंधन में लगे भाजपा के एक नेता ने स्वीकार किया कि नोटों पर लगे प्रतिबंध से चुनाव प्रचार में दिक्कत आ रही है। सबसे ज्यादा दिक्कत पैट्रोल और डीजल के लिए कार्यकर्ताओं को रोज देने वाले पैसों से हो हरी है। शहडोल में आठ विधानसभा क्षेत्रों में लाखों रुपए इसी मद में खर्च हो रहा है। वहीं वाहनों के किराए को लेकर भी परेशानी है।   यहां किराए पर लाए जाने वाले आदिवासियों के नृत्य दल लगभग गायब से हो गए हैं। इसके अलावा बैंड-बाजों और ढोल की थाप पर निकलने वाली रैलियों पर भी असर पड़ा है। अब चुनावों में सिर्फ माइक ही नजर आ रहा है। शहडोल उपचुनाव के लिए चुनाव आयोग ने खर्च की सीमा सत्तर लाख रुपए तय की है। इसके अलावा नेपानगर विधानसभा चुनाव में चुनावी खर्च की सीमा 28 लाख तय है। आदिवासी बाहुल्य शहडोल लोकसभा क्षेत्र और नेपानगर विधानसभा में अंतिम समय पर वोटरों को  लुभाने के लिए जमकर शराब परोसी जाती है। लेकिन इस पैसे का टोटा पड़ने से राजनीतिक परेशान हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 November 2016

 शहडोल  लोकसभा उप चुनाव

आर्थिक संकट से जूझ रही कांग्रेस शहडोल  लोकसभा उप चुनाव की प्रत्याशी हिमाद्री सिंह और उनके कार्यकर्ताओं को सम्मानजनक चुनावी फंड नहीं दे पाई है। खुद हिमाद्री सिंह ने पार्टी के  महामंत्री और प्रभारी मोहन प्रकाश के सामने अपनी यह पीड़ा व्यक्त की है। हिमाद्री सिंह की शिकायत के बाद मोहन प्रकाश ने पार्टी के कोषाध्यक्ष मोतीलाल वोरा से शहडोल और नेपानगर विधानसभा प्रत्याशियों के लिए चुनावी फंड उपलब्ध कराने का आग्रह किया है। कांग्रेस के फॉर्मेट में लोकसभा प्रत्याशी के लिए 75 फीसदी और विधानसभा के लिए 50 फीसदी फंड दिया गया है। दोनों ही प्रत्याशी चुनावी खर्चे को लेकर अपना दर्द पार्टी के दिग्गज नेताओं के सामने दर्ज कर रहे हैं। विश्वस्त सूत्रों ने बताया कि अभी तक नेपानगर और शहडोल में चुनाव संचालकों को इस बार कम राशि मिलने से प्रचार में परेशानी हो रही है। प्रदेश के उप चुनावों को छोड़कर पूर्व मंत्री विजय लक्ष्मी साधौ इन दिनों उत्तर प्रदेश में सक्रिय हैं। इधर, पीसीसी अध्यक्ष अरुण अकेले पड़ गए हैं। कांग्रेस का कोई बड़ा नेता शहडोल और नेपानगर चुनाव प्रचार में नहीं पहुंच रहा है। साधौ को एआईसीसी ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में झांसी जोन की जिम्मेदारी दी है। यहां पर कुछ दिनों बाद राहुल संदेश यात्रा निकाली जानी है। साधौ यात्रा की तैयारियां कर रही हैं। इसके बाद वे दलित यात्रा की तैयारी में जुटेगी। राहुल संदेश यात्रा के बाद उत्तर प्रदेश में दलित यात्रा कांग्रेस निकालने जा रही है। इस मामले में दिग्विजय सिंह ने भी मोतीलाल वोरा से अतिरिक्त धनराशि देने का आग्रह किया है। विदित है कि पार्टी के वरिष्ठ नेता कमलनाथ ने शहडोल उप चुनाव की जिम्मेदारी संभाल रखी है और कांग्रेस प्रत्याशी आर्थिक संकट से गुजर रहे हैं।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 November 2016

chunav aayog

राज्य शासन द्वारा अधिसूचना जारी  मध्यप्रदेश के शहडोल लोकसभा और नेपानगर विधानसभा उप-चुनाव के लिये संबंधित क्षेत्र के पुलिस अधिकारियों को भारत निर्वाचन आयोग की प्रतिनियुक्ति पर माना जायेगा। राज्य शासन ने इस संबंध में राजपत्र में अधिसूचना प्रकाशित कर दी है। इनमें पुलिस महानिदेशक सहित निर्वाचन कार्य से जुड़े पुलिस मुख्यालय के अधिकारी, जबलपुर, शहडोल और इंदौर के रेंज पुलिस महानिरीक्षक और शहडोल, अनूपपुर, उमरिया, कटनी, बुरहानपुर के पुलिस अधीक्षक तथा उनके अधीनस्थ पुलिस अधिकारी शामिल हैं। पुलिस अधिकारियों को निर्वाचन क्षेत्र में शांति एवं कानून-व्यवस्था को बनाये रखने के लिये आयोग को प्रतिनियुक्ति पर सौंपा गया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 November 2016

sharab

  मध्यप्रदेश के शहडोल लोकसभा और नेपानगर विधानसभा उप-चुनाव वाले क्षेत्रों में विगत 26 अक्टूबर के बाद अब तक 472 बल्क लीटर शराब जब्त की गयी। इसका अनुमानित मूल्य एक लाख 38 हजार रुपये से अधिक है। शहडोल संसदीय क्षेत्र के शहडोल, अनूपपुर, कटनी एवं उमरिया में इस दौरान 69 छापे की कार्यवाही में 44 प्रकरण दर्ज किये गये। कार्रवाई में 44 व्यक्ति गिरफ्तार किये तथा 46 हजार रुपये की 159 बल्क लीटर शराब जब्त की गयी। इसी तरह नेपानगर विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में डाले गये 91 छापे में 41 प्रकरण में 14 व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया। छापे में 92 हजार 22 रुपये मूल्य की 313 बल्क लीटर मदिरा जब्त की गयी।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 November 2016

kamlnath

  राज्यसभा में विवेक तन्खा को जीत दिलाने वाले कांग्रेस के पूर्व केंद्रीय मंत्री कमलनाथ  शहडोल लोकसभा उपचुनाव में भी पार्टी के खेवनहार होंगे। उन्हें दिल्ली से विशेष तौर पर इस चुनाव की जिम्मेदारी दी गई है। इससे पहले भी उन्हें राज्यसभा की एक सीट जिताने की जिम्मेदारी को दी गई थी। जिस पर वे खरे उतरे थे और उन्होंने पार्टी की झोली में राज्यसभा की एक सीट दी थी। कमलनाथ को अब शहडोल उपचुनाव की सीट भाजपा से छीनने की जिम्मेदारी पार्टी की तरफ से दी गई है। कमलनाथ कल यहां पर चुनावी प्रचार का शंखनाद करने आ रहे हैं। उनकी दो सभाए शहडोल और उमरिया में होगी। सूत्रों की मानी जाए तो कमलनाथ ने यहां पर योजनाबद्ध तरीके से अपनी टीम को लगा दिया है। उनकी टीम पिछले दो माह से लगातार क्षेत्र में काम करने के अलावा सर्वे कर चुकी है। इस सर्वे के आधार पर जीत के लिए पार्टी काम करेगी। क्षेत्र में कमलनाथ समर्थक विधायक ज्यादा हैं। कमलनाथ के कहने पर यहां के विधायकों ने पहले से ही कांग्रेस की जीत को लेकर बूथ लेबल तक होमवर्क कर लिया है। जो इस चुनाव में पार्टी की मजबूती का बढ़ा आधार होगा। कांग्रेस के पास इस वक्त देश में महज 45 लोकसभा सीटें हैं। जिसमें से मध्य प्रदेश में तीन सीटे उसके खाते में है। तीसरी सीट भी उसे उपचुनाव में जीत कर मिली थी। सूत्रों की मानी जाए तो  कांग्रेस उत्तर प्रदेश में  मोदी फोबिया को चुनौती देने के लिए शहडोल उपचुनाव को आधार बनाएगी। इसलिए कांग्रेस यहां पर हर स्थिति में चुनाव जीतना चाहती है। इसके चलते ही कमलनाथ को यहां की जिम्मेदारी दी गई है। उधर शहडोल लोकसभा में 20 अक्टूबर से प्रदेश कांग्रेस कमेटी के निर्देश पर करीब 250 नेता और कार्यकर्ता पहुंच चुके हैं। ये सब पोलिंग बूथ तक सक्रिय है। वहीं  महामंत्री एवं प्रदेश प्रभारी मोहन प्रकाश, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव आज शहडोल पहुंच रहे हैं। दोनों नेता कल कमलनाथ के साथ उनकी सभा में रहेंगे। यहां पर हिमाद्री सिंह को उम्मीदवार बनाया जानातय हो गया है। वे 27 को बतौर कांग्रेस उम्मीदवार नामांकन भरने जा रही है। इस दौरान मोहन प्रकाश, अरुण यादव और विवेक तन्खा नामांकन भरवाने के दौरान हिमाद्री के साथ रहेंगे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 October 2016

शहडोल और नेपानगर में उपचुनाव 19 नवम्बर को

   शहडोल और नेपानगर में उपचुनाव की तारिख चुनाव आयोग ने घोषित कर दी है। 19 नवंबर को मतदान होगा और 22 नवंबर को मतगणना की जाएगी। चुनाव में उम्मीदवारों के नामांकन की आखिरी तारीख 2 नवंबर है। इसके साथ ही नामांकन वापस लेने की ता‍रीख 5 नंवबर है। शहडोल में संसदीय सीट पर उपचुनाव होने जा रहा है। दलपत सिंह परस्ते के निधन के बाद यह सीट खाली हुई थी। वहीं बुरहानपुर जिले में नेपानगर विधासभा सीट के लिए उपचुनाव होना है। गौरतलब है कि चुनाव की तिथियां घोषित होने से पहले ही राजनीतिक दलों के नेता दोनों स्थानों पर अपने दौरे कर रहे हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  17 October 2016

मंत्री हर्ष सिंह की बीमार , ICCU में भर्ती

मंत्री हर्ष सिंह ICCU में भर्ती आयुष मंत्री हर्ष सिंह की बुढ़ार [शहडोल ]कार्यक्रम के दौरान तबीयत अचानक बिगड़ जाने के कारण उन्हें किम्स अस्पताल के आईसीसीयू में भर्ती किया गया। डॉक्टर ने बताया कि हर्ष सिंह का रक्तचाप 190 के ऊपर था उन्हें तत्काल इलाज दिया गया अभी उनका रक्तचाप 107 के आस पास आ रहा है लेकिन जिला प्रशासन एहतियातन कदम उठाते हुए उन्हें बाहर के लिए रेफर कर दिया है। डॉक्टरों ने भी सलाह दी है कि उन्हें बहार ले जाना ही उचित होगा। सूत्रों के अनुसार 3:30 बजे के आसपास मंत्री हर सिंह को बाई रोड उमरिया और उमरिया से प्लेन द्वारा जबलपुर या भोपाल के लिए ले जाया जाएगा। डॉक्टरों ने कहा हर्ष सिंह की हालत खतरे से बाहर, अब उपचार के लिए उन्हें दिल्ली ले जाया जाएगा।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 October 2016

shivraj shahdol

शहडोल जिले के सिंहपुर में  मुख्यमंत्री  चौहान  मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि गरीबों के चेहरे में मुस्कान आये। लोगों के लिये रोटी, कपड़ा, मकान, शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार का इंतजाम हो। प्रदेश का चहुँमुखी विकास हो इसी सोच और संकल्प के साथ प्रदेश सरकार जनता की सेवा कर रही है। मुख्यमंत्री  शहडोल जिले के सिंहपुर स्थित ऐतिहासिक काली माता एवं गणेश मंदिर प्रांगण में जनसभा को संबोधित कर रहे थे।   मुख्यमंत्री  चौहान ने कहा कि जनता भगवान है और उसकी सेवा ही मेरी पूजा है। मैं प्रदेशवासियों के विकास के लिये संकल्पित हूँ। मैं शहडोल संभाग को मॉडल संभाग की तरह विकसित करना चाहता हूँ। इसीलिए शहडोल जिले में विश्वविद्यालय, मेडिकल कॉलेज, इंजीनियरिंग कॉलेज जैसी सुविधाएँ मुहैया करवाई जा रही हैं। संभाग में जन-सुविधाओं के विस्तार में भी कोई कसर नहीं रखी जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि आगामी तीन साल में प्रदेश का कोई ऐसा गाँव नहीं बचेगा, जो पक्की सड़क से न जुड़ा हो। इसी तरह बिजली एवं सिंचाई सुविधाओं को विस्तारित किया जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री सिंह ने कहा कि बच्चों की पढ़ाई सबसे महत्वपूर्ण है। सरकार गुणवत्तायुक्त शिक्षा के विस्तार के लिये अनेक योजनाएँ संचालित कर रही हैं।मुख्यमंत्री चौहान ने प्रदेश के विकास के लिये आम जनता से सरकार के कार्यों में सहभागिता करने का आग्रह किया। उन्होंने लोगों को बेटे-बेटियों की पढ़ाई को महत्व देने, उनके बीच अंतर नहीं करने, वृक्षारोपण करने तथा स्वच्छता अभियान के संचालन में सक्रिय भूमिका निभाने की शपथ दिलाई। काली माता एवं गणेश मंदिर परिसर का होगा सर्वांगीण विकास मुख्यमंत्री  सिंहपुर स्थित ऐतिहासिक काली माता मंदिर, गणेश मंदिर तथा पचमठा मंदिर में पूजा-अर्चना कर प्रदेशवासियों के सुख-समृद्धि की कामना की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मंदिर के 40 एकड़ के परिसर के सर्वांगीण विकास, तालाब और मंदिर प्रांगण के सौन्दर्यीकरण की घोषणा की। मुख्यमंत्री  चौहान ने सिंहपुर में पेयजल व्यवस्था हेतु पाईपलाईन विस्तार एवं ओव्हर हेड टैंक निर्माण, थाना भवन निर्माण, खटखरिहा तालाब में श्मशान घाट में बाउण्ड्री वाल निर्माण, कब्रिस्तान के विकास तथा नहरों की मरम्मत की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि सगरा तालाब से झिरिया तालाब तक पानी लाने के कार्य का तकनीकी परीक्षण करवाया जाएगा। जीर्ण-शीर्ण नहरों की मरम्मत एवं विस्तार का भी तकनीकी परीक्षण कराकर स्वीकृति दी जाएगी।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  20 September 2016

jandarshan

जनदर्शन में मुख्यमंत्री  चौहान प्रदेश में आगामी दो वर्ष में गरीबों के 8 लाख मकान बनाये जायेंगे। मध्यप्रदेश की धरती में पैदा होने वाले हर व्यक्ति के पास स्वंय का मकान हो इसकी चिंता प्रदेश सरकार ने की है। वर्तमान में जो लोग जहाँ भी झोपड़ी बनाकर निवास कर रहे हैं, उन्हें उसी जगह का आवासीय पट्टा दिया जा रहा है। यह बात मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने  शहडोल जिले के बुढ़ार जनपद पंचायत के विभिन्न ग्रामों में जनदर्शन के दौरान कही। मुख्यमंत्री  चौहान ने कहा कि मेरा जीवन जनता के लिए समर्पित है। प्रदेश के विकास एवं जनता के कल्याण के लिए जो भी आवश्यक होगा प्रदेश सरकार उसकी पूर्ति करेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश का विकास अकेले सरकार नहीं कर सकती है, इसके लिए आमजन का भी सहयोग आवश्यक है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जनदर्शन के दौरान घरों में शौचालय बनाने, बेटा-बेटी में अंतर नहीं करने, बेटियों को भी शिक्षा में प्राथमिकता देने, सभी को एक वृक्ष लगाने एवं उनकी सुरक्षा करने की शपथ दिलवाई। मुख्यमंत्री  चौहान ने जन-दर्शन के दौरान रसमोहनी में कन्या हाई स्कूल में भवन, विषयवार शिक्षक की उपलब्धता और प्रयोगशाला के निर्माण, सिंचाई व्यवस्था के लिये नहरों के विस्तार, ग्राम मड़सा-घोघरा सड़क मार्ग, प्राथमिक एवं माध्यमिक शाला की बाउण्ड्री वॉल के निर्माण तथा कुनुक नदी में पुल निर्माण का प्राक्कलन तैयार कराने, मेहरो नदी में स्टॉप डेम-कम-रपटा के निर्माण, मोहतरा में सामुदायिक भवन के निर्माण, खैरहनी माध्यमिक शाला का हाई स्कूल में उन्नयन तथा अंटरिया पहुँच मार्ग के निर्माण, ग्राम पंचायत तितरा में कुनुक नदी में उदवहन सिंचाई योजना के सर्वेक्षण, स्कूल के पास खेल मैदान के निर्माण, खैरहनी-घोरवे मार्ग के निर्माण तथा कुनुक नदी में पुलिया निर्माण का सर्वेक्षण करवाने की घोषणा की।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 September 2016

himadri singh

  शहडोल लोकसभा उपचुनाव के लिए कांग्रेस अब किसी भी दिन अपना उम्मीदवार घोषित कर सकती है। पूर्व सांसद राजेश नंदनी सिंह की बेटी हिमाद्री सिंह को ही पार्टी इस उपचुनाव में अपना उम्मीदवार बनाने जा रही है। हिमाद्री के नाम पर प्रदेश के सभी दिग्गज नेताओं ने अपनी सहमति दे दी है।   खबर है  हिमाद्री सिंह को पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने बुलाया था। सोनिया गांधी और हिमाद्री सिंह के बीच बातचीत हुई। इसके बाद यह लगभग तय हो गया है कि हिमाद्री ही यहां से उपचुनाव लड़ेंगी। यहां से पूर्व मंत्री बिसाहू लाल सिंह और पुष्पपराज गढ़ के विधायक फुंदेलाल मॉर्को का नाम भी लोकसभा उम्मीदवार की दौड़ में माना जा रहा था।   हिमाद्री का मन कुछ दिन पहले तक चुनाव लड़ने का नहीं था, लेकिन पूर्व केंद्रीय मंत्री कमलनाथ और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव हिमाद्री से लगातार सम्पर्क में रहे। आखिर दोनों नेताओं ने हिमाद्री को चुनाव लड़ने के लिए तैयार कर लिया है।   कांग्रेस इसी महीने से शहडोल में मोर्चा संभालने जा रही है। राष्टÑीय महामंत्री और प्रदेश प्रभारी मोहन प्रकाश का इसी माह शहडोल दौरा होने वाला है। वे यहां पर कार्यकर्ताओं से बातचीत कर सकते हैं। वहीं पीसीसी ने आठ विधायकों को लोकसभा क्षेत्र की एक-एक विधानसभा की जिम्मेदारी दी है। विधायक कमलेश्वर पटेल को जैतपुर, संजय उइके को मानपुर, रजनीश सिंह को अनूपपुर , फंूदेलाल मार्को को पुष्पराजगढ़, मनोज अग्रवाल को कोतमा, सौरभ सिंह को बडवारा, ओंकार सिंह मरकाम को बांधवगढ़ और रामपाल सिंह को जयसिंह नगर विधानसभा क्षेत्र की जिम्मेदारी सौंपी है। ये सब भी इसी महीने से यहां पर ढेरा डालने वाले हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 August 2016

shahdol shivraaj singh

  मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश के सभी गरीब परिवारों को राज्य सरकार घर बनवाने के लिये भूमि मुहैया करवाकर वर्षो से भूमि पर काबिज रहवासियों को भूमि के पट्टे मुहैया करवायेगी। उन्होंने कहा है कि सरकार भूमि के पट्टे मुहैया करवाने के साथ गरीब परिवार के लोगों को घर बनवाने के लिये आर्थिक सहायता मुहैया करवायेगी। मुख्यमंत्री शहडोल जिले के बुढ़ार में ग्रामीणों  को संबोधित कर रहे थे।   मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सरकार ने तय किया है कि मध्यप्रदेश में जिस व्यक्ति का जन्म हुआ है, उसके नाम जमीन का टुकड़ा होना चाहिए। हर आदमी का यह सपना होता है कि उसका एक घर हो तथा परिवार हो। गरीब परिवारों के इस सपने को मध्यप्रदेश में साकार किया जायेगा। मुख्यमंत्री ने जिले की धनपुरी नगर पालिका क्षेत्र में गरीब तबके के आवास निर्माण के लिये 40 करोड़ रुपए और बुढ़ार नगर पालिका क्षेत्र में आवास निर्माण के लिये 20 करोड़ रुपए की राशि मुहैया करवाने की घोषणा की।   मुख्यमंत्री चौहान कहा है कि सभी वर्गों के प्रतिभावान बच्चों को मेडिकल, इंजीनियरिंग, आईआईटी में अध्ययन के लिये आर्थिक सहायता मुहैया करवाई जायेगी। उन्होंने कहा कि सरकार पहली से बारहवीं तक के छात्र-छात्राओं को निःशुल्क किताबें एवं गणवेश तथा दूर-दराज के क्षेत्रों में रह रहे छात्र-छात्राओं को निःशुल्क सायकल मुहैया करवा रही है। कक्षा 12 वीं में 60 प्रतिशत से अधिक अंक लाने वाली छात्राओं को गाँव की बेटी योजना में छात्रवृत्ति मुहैया करवाई जा रही है। प्रतिभावान छात्र-छात्राओं को सूचना क्रांति से जोड़ने के लिये स्मार्ट फोन और लेपटॉप भी मुहैया करवाने का निर्णय लिया गया है। श्री चौहान ने बताया कि प्रदेश सरकार ने निर्णय लिया है कि अब हर महीने की 10 तारीख को जनता के बीच निराश्रित और बुजुर्ग वर्ग को पेंशन का भुगतान किया जायेगा। मुख्यमंत्री ने बताया कि सरकार ने अधिकारी-कर्मचारियों को छठवाँ वेतनमान दिया और सातवाँ वेतनमान भी देगी, किंतु अधिकारी-कर्मचारियों का भी कर्त्तव्य है कि वे गरीब और कमजोर तबके के लोगों की निष्ठा और कर्त्तव्य परायणता के साथ सेवा कर योजनाओं का लाभ मुहैया करवाये।    धनपुरी में पेयजल आपूर्ति योजना   मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने नगर पालिका धनपुरी में शुद्ध पेयजल मुहैया करवाने के लिये 16 करोड 45 लाख रूपए की राशि एवं बुढ़ार क्षेत्र के पेयजल के लिए 15 करोड 35 लाख रूपए की राशि मुहैया करवाने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने धनपुरी और बुढ़ार नगर पालिका क्षेत्र की सड़कों के विकास के लिए डेढ़-डेढ़ करोड़ रूपए की राशि देने की भी घोषणा की। उन्होंने बताया कि मरखी देवी बाँध परियोजना के लिए 79 करोड़ रूपए की राशि स्वीकृत की गई है। मरखी देवी बाँध का निर्माण कार्य शीघ्र प्रारंभ होगा।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 August 2016

ujjwala yojna

  पाँच साल में 80 लाख गैस कनेक्शन मध्यप्रदेश में वितरित होंगे          मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संकल्प से अब महिलाओं का चूल्हे फूँकना बंद होगा और उन्हें गैस चूल्हा नि:शुल्क दिया जायेगा। केन्द्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस राज्य मंत्री  धर्मेन्द्र प्रधान ने कहा है कि अगले पाँच साल में प्रदेश में प्रधानमंत्री उज्जवला योजना में 80 लाख गैस कनेक्शन दिये जायेंगे। मुख्यमंत्री  चौहान एवं केन्द्रीय राज्य मंत्री  प्रधान आज शहडोल में योजना का शुभारंभ कर रहे थे। समारोह में 7 हजार गैस कनेक्शन वितरित किये गये।   मुख्यमंत्री  चौहान ने शहडोल में विश्वविद्यालय स्थापित करने की घोषणा की। उन्होंने शहीद भगत सिंह व्यवसायिक परिसर का भी लोकार्पण किया।इस मौके पर वन मंत्री डॉ. गौरीशंकर शेजवार, लोक निर्माण मंत्री  रामपाल सिंह, आदिम जाति कल्याण मंत्री  ज्ञान सिंह, खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण एवं श्रम मंत्री  ओमप्रकाश धुर्वे उपस्थित थे।   मुख्यमंत्री  चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी ने दुनिया में भारत की शान बढ़ाई है। उन्होंने अल्प समय के कार्यकाल में ही भारतीय नागरिकों की बुनियादी समस्याओं को जाना और उनके समाधान की दिशा में ठोस कदम उठाये। इसी कड़ी में ग्रामीण क्षेत्रों में चूल्हे पर खाना बनाने वाली महिलाओं के जीवन को सुरक्षित करने के लिये उन्होंने प्रधानमंत्री उज्जवला योजना बनाई गई। इस योजना से अब ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाएँ चूल्हा फूँकने की बजाय गैस चूल्हे पर खाना बनायेंगी। उन्होंने कहा कि जिन बीपीएल कार्डधारियों को गैस कनेक्शन दिया जायेगा, उनका नाम गरीबी रेखा की सूची से नहीं काटा जायेगा।   मुख्यमंत्री  चौहान ने राज्य सरकार द्वारा गरीब वर्ग के लिये चलाई गई योजनाओं का उल्लेख भी किया। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश पहला राज्य है, जहाँ गरीबों को एक रूपये किलो गेहूँ, चावल और नमक दिया जा रहा है। वर्षों से जो जिस जमीन पर बसा है उसको उसका पट्टा दिया जा रहा है। दिसंबर 2005 तक के वन भूमि पर काबिज वनवासियों को वनाधिकार पट्टा दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि शहडोल संभाग में एक लाख से अधिक हितग्राहियों को वनाधिकार पट्टे दिये जायेंगे।   मुख्यमंत्री ने कहा कि अगले तीन साल में शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में 20 लाख मकान गरीबों को दिये जायेंगे। उन्होंने बताया कि गरीब विद्यार्थियों को बेहतर शिक्षा दिलाने के लिये भी सरकार नि:शुल्क पाठय-पुस्तक, छात्रवृत्ति, गणवेश और सायकल वितरित कर रही हैं। अनुसूचित जाति, जनजाति के छात्र-छात्राओं को उच्च शिक्षा के लिये कोचिंग की सुविधा उपलब्ध करवाई गई जिससे 300 से अधिक छात्र-छात्राएँ आईआईटी, आईआईएम, मेडिकल और इंजीनियरिंग कॉलेज में चयनित हुए। इनकी पढ़ाई का खर्च भी सरकार उठायेगी। लाड़ली लक्ष्मी योजना में 22 लाख बालिकाओं को लाभांवित किया गया है। शासकीय नौकरी में वन विभाग को छोड़कर 33 प्रतिशत का आरक्षण महिलाओं को दिया गया है।   केन्द्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस राज्य मंत्री  धर्मेन्द्र प्रधान ने बताया कि प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के प्रथम चरण में शामिल देश के 5 राज्य में मध्यप्रदेश एक है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 2 साल में 23 लाख गैस कनेक्शन दिये गये हैं, जिसमें से 17 लाख घर में एलपीजी गैस कनेक्शन है। उन्होंने बताया कि अगले 3 साल में 35 लाख और 5 वर्ष में 80 लाख गैस कनेक्शन प्रदेश में दिये जायेंगे।   शहडोल जिले को दी मुख्यमंत्री ने सौगात मुख्यमंत्री श्री चौहान ने शहडोल के विकास के लिये कई घोषणाएँ की और विभिन्न योजनाओं में हितग्राहियों को हितलाभ वितरित किये। उन्होंने कहा कि एसईसीएल की भूमि पर 60 वर्ष से जो लोग रह रहे हैं, उन्हें नहीं हटाया जायेगा। शहडोल संभाग में बड़े एवं छोटे झाड़ जिन जमीनों पर दर्ज हैं उसका मालिकाना हक जनता को दिया जायेगा। उन्होंने संभाग के 3 जिले के लिये 1015 करोड़ के कार्यों को स्वीकृति दी। उमरिया जिले के इंदवार अंचल के 162 गाँव के लिये 291 करोड़ की लागत की नल-जल योजना स्वीकृत की।   मुख्यमंत्री  चौहान ने बताया कि शहडोल संभाग में 470 करोड़ की लागत से 6000 मकान बनाकर गरीबों को दिये जायेंगे। इसके साथ ही 200 से अधिक आबादी वाले गाँवों को राजस्व गाँव घोषित कर उनका सर्वांगीण विकास किया जायेगा। मनरेगा की मजदूरी और सामाजिक योजनाओं की पेंशन राशि का 5 किलोमीटर दूरी के हर गाँव में मोबाइल वेन के जरिये भुगतान करवाया जायेगा। मुख्यमंत्री ने शासन की विभिन्न योजनाओं में 31 हजार 731 हितग्राहियों को लाभांवित किया। इनमें 5011 वनाधिकार पट्टे, 5656 लाड़ली लक्ष्मी योजना के प्रमाण-पत्र, 9715 भू-धारक प्रमाण-पत्र, 811 मुख्यमंत्री ग्रामीण आवास, 160 पॉवर ट्रिलर ट्रेक्टर, 23 ट्रेक्टर एवं 304 हितग्राहियों को मुख्यमंत्री स्व-रोजगार योजना के लाभ पत्र वितरित किये।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 July 2016

Expansion and Innovation Propels Amul to 32% Growth

GCMMF which markets the extremely popular Amul brand of milk and dairy products has registered highest ever growth of 32.1%, to achieve turnover of Rs. 18143.46 crores during 2013-14. Results of the apex body of dairy cooperatives in Gujarat were declared on 15th May 2014, in the 40th Annual General Meeting of GCMMF. The organization which symbolizes ‘taste of India’, managed to achieve impressive 23% cumulative average growth rate (CAGR) over the last six years by leveraging on several marketing and technological innovations as well as enhanced distribution reach. In fact, the group turnover of GCMMF and its constituent Member Unions, representing unduplicated turnover of all products sold under Amul brand was Rs. 25500 crores or US$ 4.2 Billion.During the last four years, GCMMF has ensured 59% increase in milk procurement price to its farmers, resulting in 46% growth in milk procurement during the same period. By continuously offering most remunerative price for milk to its dairy farmers, GCMMF has incentivized them to enhance their investment towards increasing milk production.remarkable performance of its various mega-brands. GCMMF achieved excellent growth in most of the value-added consumer packs. During 2013-14, Amul long-life UHT Milk had shown an impressive value growth of 40% and sales of Amul UHT Cream also increased by 37% in value terms. Amul’s innovative milk beverages range showed quantum value growth of 25%. In Ghee, their two mega-brands Amul & Sagar together achieved very impressive growth of 46% in value terms. Sales of Amul Butter and Amul Cheese achieved impressive 21% & 22% value growth respectively. Amul Fresh Milk sales increased by 23% as Amul became the leading brand of fresh milk in several major cities of India.Shri Jethabhai Patel, who chaired the AGM, emphasized the fact that GCMMF will continue to progress with the same passion and commitment, with same values of integrity, efficiency and honesty which our founder Chairman, Dr. Kurien had instilled in our organization.Commenting on the results, Shri RS Sodhi, Managing Director, GCMMF, informed that Amul has planned rapid expansion across its entire value-chain. “Expansion has been our mantra and will remain so in the coming years”, said the MD. He added, “In line with increase in our milk procurement, our processing capacities across all Member Unions have also been enhanced from 170 lakh litres per day to 232 lakh litres per day, in the last three years. Our new dairy projects in Amreli, Bharuch, Surendranagar, Kutch and Bhavnagar will help to further enhance our capacity. In the pipeline are new dairy projects at Rohtak, Faridabad, Kanpur, Lucknow and Kolkata. Once all these new plants are commissioned, our combined processing capacity will be enhanced by another 60 lakh litres per day”. The MD informed that Amul’s presence on Global Dairy Trade platform in which only the top six dairy players of the world sell their products, has earned respect and recognition across the world. “We will strive to make brand ‘India’, a formidable force in global dairy market”. Shri Sodhi further informed that GCMMF plans to achieve turnover of Rs. 21600 crores in the year 2014-15. He expressed confidence that GCMMF will one day fulfill its destiny of becoming the largest dairy organization in the entire world and center of gravity for global dairy industry. Moving further ahead on the path of innovation, Amul plans to enhance & widen its product portfolio, based on demand and expectations of its loyal consumers.

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

Video

Page Views

  • Last day : 2842
  • Last 7 days : 18353
  • Last 30 days : 71082
Advertisement
Advertisement
Advertisement
All Rights Reserved ©2017 MadhyaBharat News.